कार्यक्रम

धर्मकार्य करनेवालों को सत्त्वगुण वृद्धि के लिए साधना करना आवश्यक है ! – सदगुरु (कु.) अनुराधा वाडेकर

छठे अखिल भारतीय हिन्दु अधिवेशन के अनावरण समारोह के दूसरे सत्र में १९ जून से आरंभ हुए ‘हिन्दु राष्ट्र संगठक प्रशिक्षण एवं अधिवेशन’ के सत्र में सनातन संस्था के धर्मप्रसारसेवक पू. नंदकुमार जाधव वक्तव्य कर रहे थे ।

Read More »

धर्मशिक्षण वर्ग के धर्माभिमानियों ने उत्साहपूर्ण वातावरण में की ‘शौर्य जागरण शिविर’ की सिद्धता

परात्पर गुरु श्री श्री जयंत बाळाजी आठवलेजी के अमृतमहोत्सव के उपलक्ष्य में वडगांव शेरी के श्री आईमाता मंदिर में २८ को शौर्य जागरण शिविर संपन्न हुआ। शिविर की पूरी सिद्धता धर्मशिक्षण वर्ग में आनेवाले धर्माभिमानियों ने की थी !

Read More »

हिन्दू जागृत होकर निश्‍चितरूप से हिन्दू राष्ट्र की स्थापना करेगा – पू. डॉ. चारुदत्त पिंगळे

हिन्दुआें को धर्मशिक्षा दी गई, तो उससे उनमें व्याप्त स्वधर्म के विषय में हीन मनोभाव दूर होगा ` हिन्दू जनजागृति समिति के राष्ट्रीय मार्गदर्शक पू. डॉ. चारुदत्त पिंगळेजी ने ऐसा प्रतिपादित किया ।

Read More »

हिन्दुओं को धर्मशिक्षा देनेवाली गुरुकुल व्यवस्था का आरंभ करना आवश्यक – पू. डॉ. चारुदत्त पिंगळे

उज्जैन के ‘किड्डू सिटी प्ले विद्यालय’ में हिन्दू जनजागृति समिति के राष्ट्रीय मार्गदर्शक पू. डॉ. चारुदत्त पिंगळेजी ने परात्पर गुरु डॉ. जयंत आठवलेजी के अमृतमहोत्सव के उपलक्ष्य में चल रहे ‘हिन्दू राष्ट्र जागृति अभियान’ के अंतर्गत आयोजित व्याख्यान में धर्माभिमानियों को संबोधित किया।

Read More »

कर्नाटक में धर्मजागृति कर जिज्ञासुओं को क्रियाशील बनानेवाले विविध उपक्रम !

व्याख्यानों में केवल ‘राष्ट्र एवं धर्म’ के संदर्भ में ही जानकारी दी जा रही है, ऐसा नहीं, अपितु जिज्ञासु ‘साधना’ की ओर कैसे झुकेंगे एवं उनमें किस प्रकार से ‘साधना’ के प्रति रूचि उत्पन्न होगी, इसकी ओर भी गंभीरता से ध्यान दिया जा रहा है।

Read More »

रामनाथ (रायगढ) : ‘तनावमुक्त अभ्यास कैसा करना चाहिए ?’ इस विषय पर मार्गदर्शन

हिन्दू जनजागृति समिति की ओर से रामनाथ (अलिबाग) के ‘अभय क्लासेस’ में ‘तनावमुक्त अभ्यास कैसा करना चाहिए ?’ इस विषय पर मार्गदर्शन किया। इस मार्गदर्शन का लाभ ६० छात्रों ने उठाया।

Read More »

बच्चों में राष्ट्राभिमान एवं धर्माभिमान जागृत करने के प्रयास अभिभावकों ने करने चाहिए ! – कु. रश्मी परमेश्वरन, हिन्दू जनजागृति समिति

अभिभावकों ने अपने बच्चों को बचपन से ही तथाकथित सर्वधर्मसमभाव सीखाने की अपेक्षा हिन्दू धर्म कैसा श्रेष्ठ है, यह सीखाना चाहिए। बच्चों में राष्ट्राभिमान एवं धर्माभिमान जागृत करने के प्रयास करने चाहिए।

Read More »

‘संपूर्ण तनावमुक्ति’ की औषधि विज्ञान की ओर नहीं, अपितु अध्यात्म की ओर ! – श्री. आनंद जाखोटिया, हिन्दू जनजागृति समिति

आज के अत्यंत व्यस्त जीवन में विद्यालय में सिखनेवाले बच्चों से लेकर विविध क्षेत्रों में कार्यरत हर व्यक्ति तनाव में है। तनाव दूर होने के लिए शारीरिक एवं मानसिक स्तर पर प्रयासों के साथ साथ आध्यात्म शास्त्र के अनुसार उचित साधना भी महत्त्वपूर्ण है !

Read More »

परशुराम का आदर्श सामने रख कर युवकों को क्षात्रतेज एवं ब्राह्मतेज उत्पन्न करना आवश्यक ! – श्री. राजन बुणगे, हिन्दू जनजागृति समिति

श्रीक्षेत्र तुलजापुर के आर्य चौक में परशुराम जयंती के अवसर पर हिन्दू जनजागृति समिति के श्री. राजन बुणगे ने कहा कि, ‘युवकों ने परशुराम का आदर्श सामने रख कर क्षात्रतेज एवं ब्राह्मतेज बढा कर राष्ट्र एवं धर्म का कार्य करने का समय आ गया है।

Read More »

अनुभव न आनेपर ईश्‍वर के अस्तित्व को ही नकारना हास्यास्पद ! – पू. डॉ. चारुदत्त पिंगळे

हिन्दू जनजागृति समिति के राष्ट्रीय मार्गदर्शक पू. डॉ. चारुदत्त पिंगळेजी जबलपुर (मध्य प्रदेश) के विजयनगर क्षेत्र में हिन्दू जनजागृति समिति के संकेतस्थल के पाठक श्री. आशीष श्रीवास्तव के घर आयोजित एक बैठक में बोल रहे थे।

Read More »
1 2 3 15