पाठशाला जाने की पूर्वसिद्धता कर, साधिए मन की एकाग्रता

बच्चो, स्मरण कीजिए कि हम पाठशाला जाते समय कैसे जाते हैं ? देर राततक दूरदर्शन के कारण प्रातः उठने के लिए देर होती है। Read more »

पाठशाला को विद्या का मंदिर समझकर आदर्श पद्धति से आचरण करें !

बच्चो, आगामी जीवन में सफल होने के लिए पाठशाला में प्रामाणिकता से आचरण कर एवं गुणसंपन्न बनकर हिंदुस्थान के भावी आधारस्तंभ बनें !
Read more »

कक्षा में खाली घंटों में (ऑफ पीरियड में) क्या करेंगे ?

मित्रो, कक्षा में सप्ताह में एक तो ‘ऑफ’ पीरियड होता है न ? आप इस खाली घंटे में क्या करते हैं ? ‘कैन्टीन’में बैठे गप्पें मारते रहते हैं ? Read more »

‘नकल’ शिक्षणक्षेत्र को दीर्घकाल लगा हुआ ‘कर्करोग’ है।

वार्षिक परीक्षा में केवल सामान्य बुद्धिमत्तावाले ही नहीं अपितु बुद्धिमान छात्र भी ‘नकल’ की कुप्रथा में फंसते हैं, यह सभी स्थानों का अनुभव है । Read more »

विद्यार्थियो, पढाई में आनेवाली अडचनें कैसे दूर करें ?

पढाई में मन न लगना, यह सभी बच्चों की नित्य की समस्या है ! पिताजी दूरदर्शन पर समाचार देखते हैं और भैया उंचे स्वर में गाना सुनते है; तब कैसे होगी पढाई ? Read more »

विद्यार्थियो, श्री संकष्टनाशन गणपतिस्तोत्र का पारायण करें !

कुछ विद्यार्थियों को परीक्षा का डर लगता है । ‘पढा हुआ ध्यान में रहेगा ना ?’, ‘प्रत्यक्ष परीक्षा में लिखते समय स्मरण रहेगा ना?’ ऐसे प्रश्नों से विद्यार्थी तथा अभिभाव कों को तनाव आता है । इस पर आध्यात्मिक उपाय है गणपतिस्तोत्र का पारायण ! Read more »

छात्रों, परीक्षा की कालावधि में संतुलित आहार लें एवं उचित व्यायाम करें !

छात्रों को सदैव संतुलित आहार लेना चाहिए एवं पर्याप्त व्यायाम सदैव करना चाहिए । किंतु परीक्षा की कालावधि में इनका विशेष ध्यान रखना चाहिए । Read more »