सोमनाथ मंदिर

बारह ज्योतिर्लिंगों में पहला तथा अतिप्राचीन है गुजरात राज्य का यह शैवक्षेत्र ! पहले दशक में ही सोमनाथ में प्रथम पत्थर के मंदिर का निर्माण किया गया । Read more »

कोणार्क का सूर्यमंदिर

ओडिशा राज्य में कोणार्क के सूर्यमंदिर की रचना एक भव्य रथ के जैसी थी । गंग वंश के राजा नरसिंहदेव के शासनकाल में (वर्ष १२३८ से १२६४) इस मंदिर की स्थापना हुई । Read more »

केदारेश्वर धाम

शिवगढ़ मार्ग पर सैलाना से ४ किलोमीटर दूर सुरम्य पहाड़ियों के बीच स्थित धार्मिक पर्यटन स्थल केदारेश्वर धाम में श्रावण मास में दर्शनार्थिर्‍यों का तांताँता लगता रहा है । Read more »

यमुनोत्री : धाम यमुना के उद्गम स्थल की यात्रा

भारत की सर्वाधिक प्राचीन और पवित्र नदियों में गंगा के समकक्ष ही यमुना की गणना की जाती है । भगवान कृष्ण की लीलाओं की साक्षी रही यह नदी ब्रज संस्कृति की संवाहक है । Read more »

बद्रीनाथ

भारत के प्रमुख तीर्थस्थलों में से एक है चार धाम । नर एवं नारायण पहाड़ों के मध्य में चार तीर्थस्थान हैं, जिसका नाम है बद्रीनाथ । Read more »

अमरनाथ – हिमालय की गोद में बसा शिवधाम !

भगवान शिव का धाम अमरनाथ प्राकृतिक सुंदरता में किसी से भी अल्पतर नहीं है। चारों ओर फैली बर्फ की सुंदर वादियां और बादलों से अठखेलियां करता आसमान । Read more »

मुरलीधर की मथुरा !

यमुना नदी के पश्चिमी तटपर बसे विश्व के प्राचीन शहरों में मथुरा एक शहर है । यह शहर भारतीय संस्कृति एवं सभ्यता का केंद्र रहा है । भारत के सात प्राचीन नगर अयोध्या, मथुरा, हरिद्वार, काशी, कांची, अवंतिका और द्वारका में से एक है मथुरा । Read more »

चित्रकूट

भारत के प्रमुख तीर्थस्थलों में उत्तरप्रदेश राज्य में स्थित ‘चित्रकूट’ प्रमुख माना जाता है । लोगों का विश्वास है कि भगवान श्रीराम देवी सीता और छोटे भाई लक्ष्मण सहित चित्रकूट के घने जंगलों में अपने वनवास काल में थे । Read more »

नर्मदा नदी

भारतीय संस्कृति में नर्मदा नदी का विशेष महत्त्व है । जिस प्रकार उत्तर भारत में गंगा-यमुना नदियों की महिमा है, उसी प्रकार मध्य भारत में नर्मदा नदी जन-जन की आस्था से जुडी हुई है। Read more »