विद्यालय में खाने के लिए घर के बने खाद्यपदार्थ ही ले जाएं !

आजकल बच्चों को विद्यालय में खाद्यपदार्थ का डिब्बा ले जाने के लिए लाज आती है । उसकी अपेक्षा खरीदकर खाने में अधिक रुचि होती है । आगे दिए लेख में विद्यालय में खाद्यपदार्थ ले जाने के विषय में कुछ सूचनाएं ! Read more »

बच्चो, मितव्ययी होने के लाभों को जानिएं !

भगवानजी की कृपा से मनुष्य को अनेक सुविधाएं उपलब्ध हुई हैं । इन सुविधाओं का अपव्यय टालकर, आवश्यकतानुसार उपयोग करना, इसीको ‘मितव्ययी’
कहते है । Read more »

पाठशाला से लौटते समय करने योग्य कृत्य

पाठशाला के छूटने के उपरांत सीधे घर आएं । रास्ते में समय व्यर्थ न गवाएं । किसी कारण से यदि विलंब हो रहा हो तो वैसा संदेश भेजें । अन्यथा मां को चिंता होती है । Read more »

बच्चो, अपने राष्ट्र के प्रति प्रेम बढाएं !

बच्चो, परिवार का एक सदस्य होने के नाते आप छोटे-मोटे कार्य करते हैं । उसी प्रकार आप जिस देश में रहते हैं, उस देश के प्रति भी आपके कुछ कर्तव्य होते हैं । इन कर्तव्यों को पूर्ण करना हो तो (साकार करना हो तो), सर्वप्रथम राष्ट्राभिमान जागृत करना चाहिएं । Read more »

विद्यार्थी मित्रो, नई कलाएं सीखकर छुट्टी को सार्थक करें !

विद्यार्थी मित्रो, अब अपकी परीक्षाएं समाप्त होकर छुट्टी आरंभ हुई है । छुट्टी अपने व्यक्तित्त्व को सुंदर आकार देनेवाली एवं नए-नए कलाकौशल सीखने की मुक्त पाठशाला ही है । Read more »

हस्ताक्षर सुंदर एवं सुवाच्य हों !

अक्षर से मानव की परख करना संभव है, यह कहना अनुचित न होगा । किसी के हस्ताक्षर देखते ही उसके व्यवस्थितता, अनुशासन, कलात्मकता आदि अनेक गुण हमारे ध्यान में आते हैं । Read more »

स्पाइडरमैन, सुपरमैन, शक्तिमान जैसे काल्पनिक पात्रों के प्रति आकर्षण रखने के दुष्परिणाम

वर्तमान में छोटे बच्चों के लिए स्पाइडरमैन, सुपरमैन, शक्तिमान जैसे काल्पनिक पात्रों की मनोरंजनात्मक मालिकाएं दूरदर्शनपर दिखाई जाती हैं । Read more »

पढाईके अतिरिक्त और क्या पढें ?

बच्चो, ‘हैरी पॉटर’ एक काल्पनिक कथा है जिसका वास्तविकतासे कोई संबंध नहीं है । क्या यह काल्पनिक कथा कभी भी वास्तविक बन पाएगी ? ऐसेमें जो असत्य है उन्हें पढनेमें समय व्यर्थ क्यों गंवाएं ? Read more »

विद्यार्थियों, शिक्षकों के साथ आपका आचरण ऐसा होना चाहिए . . .

‘शिक्षक वह व्यक्ति है जो विद्यार्थियों को प्रतिदिन नवीन ज्ञान देते हैं । शिक्षक विद्यार्थियों के लिए तन एवं मन का त्याग करते हैं । उनके कारण विद्यार्थियों को जीवन की दिशा मिलती है । Read more »