मित्रो, आपका आदर्श कौन हो ?

१. आजकल के अधितर लडके-लडकियों के आदर्श हैं चलचित्रों के अभिनेता तथा खेलों के खिलाडी !

. राष्ट्रद्रोही कृत्यों में लिप्त कुछ अभिनेता तथा खिलाडी !

अधिकतर बालकों के लिए आदर्श बने अभिनेता तथा खिलाडी अपने जीवन में किस प्रकार के अनुचित आचरण करते हैं, इसके कुछ उदाहरण देखते हैं ।

अ. एक अभिनेता, जो मुंबई बमविस्फोट प्रकरणमें अभियुक्त था, उसके घर में अवैधरूप से रखी बंदूक एके-४७ पाई गई । इस प्रकरण में उसे टाडा न्यायालय ने दोषी बताया था ।

आ. एक अभिनेता ने वन के हिरण को अवैधरूप से मार डाला था तथा मद्य पीकर चारपहिया वाहन चलाने पर हुई दुर्घटना में एक नागरिक की मृत्यु हो गई थी ।

इ. एका अभिनेता ने स्वयं को अनिवासी भारतीय बताकर करोडों रुपयों के शासकीय कर (टैक्स) की चोरी की ।

ई. एक महिला बॅडिंमटन खिलाडी प्रतियोगिता के समय हिंदुस्थान के राष्ट्रध्वजपर पैर रखकर बैठी थी ।

उ. एक क्रिकेट खिलाडी ने अपने जन्मदिवसपर हिंदुस्थान के राष्ट्रध्वज के चित्रवाला केक काटा था ।

मित्रो, यह ध्यान रखें कि राष्ट्रद्रोह करनेवालों को अपना आदर्श मानना, उनके राष्ट्रद्रोही कृत्यों का समर्थन करने समान है ।

२. मित्रो, किसे अपना आदर्श मानना चाहिए ?

अनेक लोग उच्च शिक्षा ग्रहण कर केवल पैसा, गाडी तथा बंगला प्राप्त करते हैं तथा एक दिन सर्वसामान्य मनुष्य के समान मर जाते हैं । परंतु कुछ लोग प्राप्त शिक्षा का उपयोग राष्ट्र तथा धर्म के लिए करते हैं । तन-मन-धन तथा आवश्यक होनेपर प्राण अर्पण कर अमर हो जाते हैं । बालमित्रो, आपका आदर्श व्यक्ति निम्नांकित विशेषताओं से युक्त होना चाहिए ।

१. भीषण संकटों में भी ईश्वर का नामजप न त्यागनेवाला : भक्त प्रहलाद

२. तपस्या कर अटलपद प्राप्त करनेवाला : बालक ध्रुव

३. १६ वर्ष की अवस्था में विश्व प्रसिद्ध धर्मग्रंथ ज्ञानेश्वरी लिखनेवाले : संत ज्ञानेश्वर