स्वातंत्र्यवीर सावरकर

‘होंगे कई, हुए कई, परंतु इसके समान यही’

  • हिन्दुस्थान की स्वतंत्रता हेतु अंतरराष्ट्रीय स्तर पर क्रांतिकारक आन्दोलन संघटितकरने वाले आद्य क्रांतिवीर

  • दो देशों की सरकार ने जिनके ग्रंथ पर प्रसिद्धिपूर्व प्रतिबन्ध लगाया ऐसे विश्व केआद्य लेखक

  • हिन्दुस्थान के स्वतंत्रता संग्राम में भाग लेने के लिए जिनकी पदवी विद्यापीठ नेवापस ले ली ऐसे आद्य पदवीधर

  • हिन्दुस्थान के स्वतन्त्रता संग्राम में सहभागी होने के लिए जिनकी बॅरिस्टर पदवीनकारी गयी ऐसे आद्य विधिज्ञ

  • विदेशी कपडों की निभर्‍य रूप से प्रकट होली आयोजित करनेवाले आद्यदेशभक्त

  • हिन्दुराष्ट्र के सर्वांगीण विकास की दृष्टी से सर्वस्पर्शी विचार करनेवाले,अस्पृश्यता व जातिभेद के विरुद्ध बिगुल बजानेवाले आद्य क्रांतिवीर

  • ब्रिटिश न्यायालय का अधिकार नाकारनेवाले आद्य भारतीय विद्रोही नेता

  • ५० वर्ष सीमा पार की कालापानी का दंड प्राप्त होने वाले तथा वह समाप्त होनेपर सक्रिय कार्य करनेवाले विश्व के आद्य राजबंदी

  • कारागृह में लेखन साहित्य न मिलेन पर पत्थर से कारागृह की दीवार पर लगभग दस सहस्त्र पंक्तियों का काव्य कोरनेवाले तथा वह सहबंदिवानों से मुखोद्गत करवाकर प्रसिद्ध करनेवाले विश्व के आद्य कवि

  • अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में जिनकी गिरफ्तारी रही ऐसे हिन्दुस्थान के आद्य राजबंदी

  • योगशास्त्र की उत्तुंग परंपरा के अनुसार प्रायोपवेशन से मृत्यु को प्राप्त करने वाले आद्य तथा एकमेव क्रांतिकारी महायोगी

साभार : सावरकर.ओर्ग