भगवान के अतिरिक्त अपना कोई नहीं ! (द्रौपदी वस्त्रहरण)

द्युत में (जुए में) हारने के पश्चात दुर्योधन ने द्रौपदी को राज्यसभा में लाने का आदेश दिया । अत: दुःशासन उसे घसीटता हुआ राज्यसभा में लेकर आया । ऐसा न करने हेतु द्रौपदी निरंतर विनती कर रही थी; किंतु उनपर उसका कुछ भी परिणाम नहीं हुआ । Read more »

गोवर्धन पर्वत

भगवान श्रीकृष्ण को सब जानते हैं ना ? वे गोकुल में रहते थे । वहां गोवर्धन नाम का एक बडा पर्वत था । गोकुल में श्रीकृष्ण के साथ सारे गोप-गोपी आनंद से रहते थे । हर वर्ष अच्छी बारिश हो, इस हेतु वे इंद्रभगवान की पूजा करते थे । Read more »