चित्रकूट

चित्रकूट : धाम

भारत के प्रमुख तीर्थस्थलों में उत्तरप्रदेश राज्य में स्थित ‘चित्रकूट’ प्रमुख माना जाता है । लोगों का विश्वास है कि भगवान श्रीराम देवी सीता और छोटे भाई लक्ष्मण सहित चित्रकूट के घने जंगलों में अपने वनवास काल में थे । चित्रकूट धाम एक भव्य पवित्र स्थल है जहां पांच ग्रामों का संगम है । इस स्थानपर कारवी, सीतापुर, कामता, कोहनी, नयागांव जैसे गांवों का संगम है । यहां सुंदर प्राकृतिक पर्वत, झरने, घने जंगल, चहकते पक्षी, बहती नदियां हैं ।

श्रद्धालुओं की श्रद्धा है कि कामदगिरि भव्य धार्मिक स्थल है जहांपर भगवान श्रीराम रहते थे । इस स्थानपर भरत मिलाप मंदिर भी स्थित है जहां भरतने श्रीराम से कहा कि वे अयोध्या लौट चलें । भगवान श्रीराम श्रद्धालुओं की भक्ति से प्रसन्न होकर उनकी मनोकामना पूर्ण करेंगे, इस विश्वास से वे परिक्रमा की प्रथा का पालन करते हैं ।

जानकी कुंड

यह रामघाटपर स्थित भव्य स्थान है । सीताजी इस नदी में स्नान करती थीं । यहां की प्राकृतिक सुंदरता भी दर्शनीय है । यह शांत और सुंदर स्थान प्रकृति की अमूल्य देन है । नदियों की धाराएं आकाश के नीले रंग के समान लगती हैं । मानो नीले रंग की ओढनी ओढी हुई है । रामघाटसे २ किमी दूरीपर स्थित जानकी कुंड तक पहुंचने के लिए दो मार्ग हैं । यहां हम सडक के मार्ग से भी जा सकते हैं और रामघाट से नाव में बैठकर भी पहुंच सकते हैं ।