शिवाजी महाराज : हिंदवी स्वराज्य के संस्थापक एवं एक आदर्श राज्यकर्ता !

हिंदवी साम्राज्य के संस्थापक तथा एक आदर्श शासनकर्ता के रूप में पहचाने जानेवाले छत्रपति शिवाजीराजे भोसले, एक सर्वसमावेशक, सहिष्णु राजा के रूप में महाराष्ट्र एवं अन्यत्र भी वंदनीय हैं । Read more »

शिवराज्याभिषेक

सिंहासनारूढ होने हेतु, बत्तीस मन का सुवर्णका सिंहासन तैयार करवाया । अमूल्य नवरत्न जितने कोष में थे, उनमें से खोजकर बहुमूल्य रत्न सिंहासन में जडवाए गए । रायरी का नाम ‘रायगड’ रखा गया । Read more »

रानी लक्ष्मीबाई

जिनके आदर्शपर चलें ऐसे कई पराक्रमी, वीर हिंदुस्तान के १८५७ के स्वतंत्रता संग्राम में विख्यात हुए । उन सबमें असाधारण पराक्रम दिखानेवाली झांसी की रानी लक्ष्मीबाई…. Read more »

भारतीय इतिहास के दो प्रसिद्ध राजा : हरिहर और बुक्कराय

दक्षिण भारत में धूम मचानेवाले मुगल आक्रमकों को निस्तेज कर के ‘शंकराचार्य विद्दारण्य स्वामीजी’के मार्गदर्शन के अनुसार स्वतंत्र विजयनगर के साम्राज्य की स्थापना करनेवाले हरिहर और बुक्कराय ये भारत के इतिहास के प्रसिद्ध राजा हैं । Read more »