देव दीवाली

देव दीवाली उत्तर भारत में कार्तिक पूर्णिमापर तथा दक्षिण भारत में मार्गशीर्ष शुक्ल प्रतिपदापर मनाई जाती है । इस दिन कुलस्वामी, कुलस्वामिनी एवं इष्टदेवता के अतिरिक्त अन्य देवताओं की पूजा भी करना तथा उनको भोग प्रसाद अर्पित करना आवश्यक होता है ।

पूजन : इस दिन अपने कुलदेवता तथा इष्टदेवता सहित, स्थानदेवता, वास्तुदेवता, ग्रामदेवता और गांव के अन्य मुख्य उपदेवता, महापुरुष इत्यादि निम्नस्तरीय देवताओं की पूजा कर उनकी रुचि का प्रसाद पहुंचाने का कर्तव्य पूर्ण किया जाता है । देव दीपावलीपर पकवानों का महानैवेद्य (भोग) चढाया जाता है ।