हिंदुओ, पश्चिमी नववर्ष (३१ दिसंबर) मनाना ही नहीं चाहिए ! – हिंदुत्वनिष्ठोंका आवाहन

पौष कृष्ण ४, कलियुग वर्ष ५११४


राष्ट्र एवं धर्मके प्रति अभिमान न होना, धर्मशिक्षाके अभाव तथा पाश्चात्य  संस्कृतिके प्रभावके कारण हिंदुओंमें प्रतिवर्ष ३१ दिसंबरकी मध्यरात्रिको नववर्ष मनानेकी कुप्रथा प्रचलित हुई है । इस दिन हो रहे अनाचारोंकी मात्रा भी बढ गई है । इन अनाचारोंको रोकने हेतु हिंदू जनजागृति समिति सप्ताहभर देशके विभिन्न स्थानोंपर आंदोलन, निवेदन देना, हस्ताक्षर अभियान, प्रवचन, फेरियां, फलक, लेखोंद्वारा प्रबोधन करती है । इस अवसरपर विविध हिंदुत्वनिष्ठ संगठन एवं उनके कार्यकर्ता भी समितिके इस जनप्रबोधन अभियानमें सम्मिलित हुए । इस संदर्भमें कुछ समाचार…


निपाणी (जनपद बेलगांव)में प्रबोधन फेरी

निपाणी (जनपद बेलगांव) – यहां प्रबोधन फेरीद्वारा ३१ दिसंबरको होनेवाले अनाचारोंके विरोधमें प्रबोधन किया गया । ह.भ.प. बाबूराव वामनराव महाजनद्वारा श्रीराम मंदिरमें धर्मध्वजका पूजन कर इस फेरीका उद्घाटन किया गया ।

इस अवसरपर महिला दक्षता समितिकी प्रा.(श्रीमती) गौरावती खराडेने कहा, ‘‘पाश्चात्य अंधानुकरणके कारण ही महिलाओंपर होनेवाले अत्याचार एवं व्यसनाधीनताकी मात्रा बढ गई है । ‘३१ दिसंबर’ मनानेकी कुप्रथाके कारण व्यसनाधीनताको प्रोत्साहन प्राप्त हुआ है । पाश्चात्य अंधानुकरणके कारण ही महिलाओंका शील संकटमें है ।’’ हिंदू जनजागृति समितिके श्री. अविनाश पोवारने कहा, ‘‘वर्तमानमें पश्चिमी देशोंमें ही १ जनवरीको नववर्ष मनानेकी मात्रा अत्यंत अल्प हो गई है; अपितु भारतमें यह मात्रा बढ गई है । इसका कारण है हिंदुओंको धर्मशिक्षा नहीं दी जाती । अपने धर्मका महत्त्व जाननेके लिए सभी हिंदू धर्मशिक्षा लेकर उसके अनुसार धर्माचरण करें । हिंदू धर्मका महत्त्व जानकर संवत्सरारंभके दिन ही नववर्ष मनाएं ।’’ इस प्रबोधन फेरीके मार्गपर स्थित संभाजीराजे स्मारकपर सनातन संस्थाके श्री. निंगोंडा पाटीलद्वारा, रानी चिन्नेम्माकी प्रतिमाको रानी चिन्नेम्मा महिला संघकी अध्यक्षा श्रीमती यशोदा पाटीलद्वारा पुष्पहार अर्पित किया गया ।

नववर्ष संवत्सरारंभको ही मनाएं !

जनप्रबोधन फेरीके माध्यमसे धर्माभिमानी हिंदुओंद्वारा मुरबाड निवासियोंको आवाहन

मुरबाड (जनपद ठाणे) – ‘नववर्ष १ जनवरीको नहीं, गुडीपडवाको ही मनाएं ।’ ऐसा आवाहन हिंदू जनजागृति समितिद्वारा किया गया एवं मुरबाडमें जनप्रबोधन फेरी निकाली गई । नगरके संतोषीमाता मंदिरमें प.पू. पुरुषोत्तम महाराजद्वारा धर्मध्वजका पूजन करने तथा छत्रपति शिवाजी महाराजकी प्रतिमाको पुष्पहार अर्पण करनेके पश्चात फेरी निकाली गई । नगरके विभिन्न क्षेत्रोंसे ऊंचे स्वरमें नारे लगाकर फेरीमें सम्मिलित धर्माभिमानी मार्गक्रमण कर रहे थे ।

विशेषताएं – कुछ रिक्शाचालक आधा दिन रिक्शा बंद रखकर फेरीके नियोजनमें सम्मिलित हुए थे । अनेक गांवोंसे धर्माभिमानी आधे दिनकी छुट्टी लेकर फेरीमें सम्मिलित हुए थे । दूर-दूरके गांवोंसे आए नागरिक फेरीमें सम्मिलित हुए थे । भारत-पाक क्रिकेट सामना चल रहा था, फिर भी देवगांव, दुधाळे पाडा, शिवळे इत्यादि विभिन्न क्षेत्रोंसे १०० से अधिक युवक फेरीमें सम्मिलित हुए थे । दो स्थानोंपर धर्मध्वजकी आरती की गई ।

३१ दिसंबर हिंदुओंका नववर्ष है, यह असत्य लोगोंके मनपर अंकित किया जा रहा है  ! – प.पू. पुरुषोत्तम महाराज

प.पू. पुरुषोत्तम महाराजने कहा कि, ‘३१ दिसंबर हिंदुओंका नववर्ष है, यह असत्य लोगोंके मनपर अंकित किया जा रहा है । धर्माचरणसे मनुष्यका जीवन समृद्ध बनता है; परंतु ३१ दिसंबर मनानेके कारण युवा पीढी व्यसनाधीन बन रही है । अतएव प्रत्येक व्यक्तिको धर्माचरण करना चाहिए ।’

‘३१ दिसंबर’की रात्रिमें हो रहे अनाचार रोकने हेतु ठाणेमें प्रदर्शन

ठाणे – पश्चिमी संस्कृतिका अंधानुकरण कर मनाए जानेवाले ‘३१ दिसंबर’की रात्रिको होनेवाले अनाचार रोकने हेतु हिंदू जनजागृति समितिद्वारा ठाणे जनपदमें विभिन्न माध्यमोंसे प्रबोधन किया जा रहा है । इसके ही एक भाग स्वरूप यहांके वर्तकनगर नाकेपर समितिद्वारा प्रदर्शन किया गया । विभिन्न हिंदुत्वनिष्ठ संगठनोंके कार्यकर्ता इस प्रदर्शनमें सम्मिलित हुए थे । इस अवसरपर आयोजित हस्ताक्षर अभियानको भी नागरिकोंद्वारा अच्छा प्रतिसाद दिया गया ।

सांगलीमें प्रबोधन फेरी

सांगली – ‘३१ दिसंबर’को ‘ड्राय डे’ घोषित करें’, यह मांग करते हुए हिंदू जनजागृति समिति एवं सनातन संस्थाद्वारा संयुक्तरूपसे सांगलीमें रविवारको प्रबोधन फेरी निकाली गई । झूलेलाल चौकसे आरंभ इस फेरीका समापन गणपति मंदिरमें किया गया । फेरीके आरंभभे ह.भ.प. लक्ष्मणशास्त्री मोटेने धर्मध्वजका पूजन किया । समितिकी कु. प्रतिभा तावरे एवं श्री. सतीश सरवदेने उपस्थित लोगोको संबोधित किया । श्री संप्रदायके श्री. प्रकाश गायकवाड, सांगली जनपद वारकरी संप्रदाय संगठनके संस्थापक ह.भ.प. रमाकांत बोंगाळे महाराज, शिवसेनाके श्री. बसवंत भोरावत, श्री शिवप्रतिष्ठानके श्री. हरिदास कालिदास सहित १५० धर्माभिमानी फेरीमें सम्मिलित हुए थे ।

प्रतिक्रियाएं

१. आपके इस कार्यपर मुझे अभिमान है । युवापीढीको यह बताना चाहिए । – विजय कोरे, व्यापारी

इस प्रकारकी फेरियां निरंतर होनी चाहिए । –  विनायक माने, नागरिक

विशेष – स्थानीय ‘सी न्यूज’द्वारा हिंदू जनजागृति समितिकी कु. प्रतिभा तावरेका साक्षात्कार लिया गया ।

मुलुंड (मुंबई) की पाठशालामें प्रबोधन

मुलुंड (मुंबई) – मुलुंड विद्यामंदिरमें हिंदू जनजागृति समितिद्वारा ८ वीं से १० वीं कक्षाके विद्यार्थियोंका ३१ दिसंबर न मनानेके विषयमें प्रबोधन किया गया । समितिके  श्री. सतीश सोनारने इस अवसरपर उपस्थित ७०० विद्यार्थी और १० अध्यापकोंका प्रबोधन किया । उपस्थित अध्यापकोंने प्रतिपादित किया कि समिति जिस प्रकार समाजमें अपनी संस्कृतिके विषयमें जागृति कर रही है, वह वास्तवमें प्रशंसनीय है ।

केडगाव (पुणे)में वाहनफेरी : ईसाई नववर्ष न मनानेका केडगांवके निवासियोंका निश्चय !

केडगाव (जनपद पुणे) – ३१ दिसंबरकी मध्यरात्रिको नववर्ष मनाना एक दिनका धर्मपरिवर्तन करनेके समान ही है । इस प्रकार प्रबोधन करते हुए ‘स्वतंत्रतावीर सावरकर युवा विचार मंच’ एवं हिंदू जनजागृति समितिद्वारा संयुक्त रूपसे ३० दिसंबरको वाहनफेरीका आयोजन किया गया था । हाथमें भगवा ध्वज लेकर, पीठपर प्रबोधनात्मक फलक लगाकर नारे लगानेवाले लगभग ५० युवक इस फेरीमें सम्मिलित हुए थे । नागेश्वर मंदिरसे नारियल फोडकर फेरी आरंभ हुई । केडगांव, आंबेगांव, वाखारी, बोरी पार्धी, खुटबाव मार्गसे जाकर लगभग ८ किलोमीटरतकके परिसरमें कार्यकर्ताओंने बस्तियोंमें जाकर निवासियोंका प्रबोधन किया । उस समय प्रबोधनात्मक हस्तपत्रकोंका वितरण भी किया गया । उस समय ग्रामीणोंने भी ईसाई नववर्ष न मनानेका निश्चय किया ।

स्वातंत्र्यवीर सावरकर युवा विचार मंचके संस्थापक अध्यक्ष आधुनिक वैद्य नीलेश लोणकरके नेतृत्वमें इस फेरीका आयोजन किया था । ( धर्मरक्षा हेतु नेतृत्व करनेवाले डॉ. लोणकरका अभिनंदन ! अन्यत्रके हिंदू भी उनसे प्रेरणा लेकर धर्मपर हो रहे आघात रोकने हेतु कृतीशील बनें ! – संपादक ) गत वर्ष भी ऐसी ही प्रबोधन फेरी आयोजित की गई थी । मद्यविक्रेताओंने कहा कि इस प्रबोधनफेरीके कारण मद्यविक्रय ८० प्रतिशत घटा है । फेरीके अंतमें हिंदू जनजागृति समितिके श्री. सुनील घनवटने मनोगत व्यक्त किया । श्री. संदीप टेंगलेने सूत्रसंचलन किया तथा आधुनिक वैद्य लोणकरने आभारप्रदर्शन किया । उस समय अनेक लोगोंने स्वयं ही हस्तपत्रक मांगे ।

जनपद अधिकारी एवं वरिष्ठ पुलिस निरीक्षकोंको निवेदन

 पुणे – ३१ दिसंबर और १ जनवरीको ईसाई नववर्ष निमित्त होनेवाले अनाचार रोकनेके संदर्भमें निवासी जनपद अधिकारी अनिल पवार और हडपसर पुलिस थानेके  वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक रघुनाथ जाधवको निवेदन दिया गया । उस समय आसारामबापू संप्रदाय संचलित ‘युवा सेवा संघ’के श्री. कुमावत, हिंदू जनजागृति समितिके कार्यकर्ता उपस्थित थे ।

सोलापुर पुलिस थानेमें निवेदन

सोलापुर – ३१ दिसंबरको होनेवाले अनाचार रोकनेके संदर्भमें विजापुर नाका पुलिस थानेमें भारती विद्यापीठ एवं हिंदू जनजागृति समितिद्वारा निवेदन दिया गया । उस समय भारती विद्यापीठ केंद्रकी श्रीमती पैलवान, श्रीमती कवडे, श्रीमती बेरूणगी, श्रीमती यादव, श्रीमती जावळकोटी, श्रीमती साखरे तथा श्रीमती सविता पाटील इत्यादि हिंदू जनजागृति समितिके कार्यकर्तां उपस्थित थे ।

घाटकोपर रेलस्थानकके बाहर प्रबोधन

घाटकोपर (मुंबई) – हिंदू जनजागृति समितिद्वारा आवाहन किया गया कि रेल स्थानकके बाहर ३१ दिसंबरको ‘ड्राय डे’ घोषित करें । इस प्रबोधनके समय समितिके २५ कार्यकर्ता सम्मिलित हुए थे तथा इस अवसरपर हिंदूराष्ट्र सेनाके श्री. प्रशांत बडे एवं अन्य कार्यकता, भाजपा युवा मंचके कार्यकर्ता श्री. आशीष ओझा, सहायता फाउंडेशन न्यासके श्री. जगजीत सिंह एवं भाजपाके कार्यकर्ता श्री. बाळ गोलतकर उपस्थित थे ।

विशेष : १. झुनझुनवाला महाविद्यालयके युवक-युवतियोंने इस विषयमें अधिक जानकारी प्राप्त कर स्वयं आकर हस्ताक्षर किए ।

२. घाटकोपर पुलिसका इस अभियानमें बहुमूल्य सहयोग प्राप्त हुआ ।

स्त्रोत – दैनिक सनातन प्रभात 

Notice : The source URLs cited in the news/article might be only valid on the date the news/article was published. Most of them may become invalid from a day to a few months later. When a URL fails to work, you may go to the top level of the sources website and search for the news/article.

Disclaimer : The news/article published are collected from various sources and responsibility of news/article lies solely on the source itself. Hindu Janajagruti Samiti (HJS) or its website is not in anyway connected nor it is responsible for the news/article content presented here. ​Opinions expressed in this article are the authors personal opinions. Information, facts or opinions shared by the Author do not reflect the views of HJS and HJS is not responsible or liable for the same. The Author is responsible for accuracy, completeness, suitability and validity of any information in this article. ​